आर्य समाज दौंगड़ा अहीर का 79वां वार्षिकोत्सव

0
16

ईश्वरीय ज्ञान ही वेद कहलाए जाते हैं अतः वेद ही सब सत्य विद्याओं की पुस्तक है। वेद विद्या की आज्ञाओं / मर्यादाओं पर चलना ही सत्य सनातन वैदिक धर्म है। वेद की मर्यादाओं/ आज्ञाओं को मानने वाला ही आर्य (श्रेष्ठ) कहलाता है। आओ व्यक्ति, परिवार, राष्ट्र वस सार को आर्य बनाएँ। ‘माता निर्माता भवति’ वेद विदुषी माता श्रेष्ठ सन्तानों का और विद्याविहान माता अश्रेष्ठ स तानों का निर्माण करती है। ईश्वर करें। आर्यावर्त (भारत) में फिर से हमारे आर्य पूर्वजों ऋषि-मुनियों, मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम व योगेश्वर श्री कृष्ण की भाँति कोई वैदिक विद्वान, चरित्रवान व बलवान चक्रवर्ती (सार्वभौमिक) शासक (राजा) पैदा हो। ताकि पूरे भूमण्डल पर वेद की मर्यादाओं का अनुशासन स्थापित होकर सभी मानव जाति सुख-शांति से मानव जन्म सफल कर सभी जीवों का कल्याण करते हुए धर्म, अर्थ, काम व मोक्ष के परम लक्ष्य को प्राप्त हो ।

दिनांक – 14 एवं 15 नवम्बर, मंगलवार व बुधवार 2023

आप सभी सत्य सनातन धर्म प्रेमी सज्जनों को जानकर अति हर्ष होगा कि देश में सरकार व आर्य समाज मिलकर संयुक्तरूप से 2 वर्ष तक महर्षि देव दयानन्द सरस्वती की द्वितीय जन्म शताब्दी मना रहे हैं। इसी उपलक्ष्य में आर्य समाज दोगड़ा अहीर दो दिवसीय सम्मेलन बड़ी धूम-धाम से मना रहा है। अतः आप ईश्वरीय वेद विद्याओं के ज्ञानगंगा में डुबकी लगाकर अच्छे संस्कारों को ग्रहण करने हेतु अपने बच्चों, माताओं, बहनों, व इष्ट मित्रों सहित शामिल होकर पुण्य के भागी बने व जीवन सफल बनायें।

प्रायोजित सम्मेलन

वेद ज्ञान एवं युवा चरित्र निर्माण

वेद ज्ञान एवं नारी उत्थान

राष्ट्र भक्ति- एवं वेद

ज्ञान, कर्म, उपासना एवं वेद

मोक्ष हेतु अष्टांग योग एवं वेद

मुख्य अतिथि :- डॉ० आनन्द (स्नातक गुरुकुल झज्जर, स्नातकोत्तर गुरुकुल कांगड़ी विश्व विद्यालय IPS. Ex. DGP D.P)

डॉ० विजय सीमाणी (चेयरमैन सोमाणी इन्जि. कॉलेज, रेवाड़ी एवं प्रसिद्ध उद्योगपति)

आमंत्रित संन्यासी, विद्वान, विदुषी एवं भजनोपदेशक

आचार्य सोमदेव जी संचालक आर्य गुरुकुल मलारना राज. जिनके व्याख्यानों को सुनने के लिए युवा भी लालायित रहते है।

प्रो. डॉ. सारस्वत मोहन ‘मनीषी’ विश्व विख्यात गीतकार गजलकार एवं व्यंग्यकार

स्वामी ब्रह्मानन्द एकांती

विदुषी बहन अंजलि आर्या- घरौंड़ा – स्वाध्याय पर आधारित ओजस्वी भजनों को सुनने व रिकार्ड करने की होड़ लग जाती है।

पं० दिनेश पथिक पंजाब

रामौतार पुरुषार्थी बिहाली

महाशय भरतसिंह आर्य दीगड़ा, अहीर

यज्ञ ब्रह्मा – आचार्य सोमदेव जी । यज्ञ (हवन) विज्ञान पर प्रभावशाली व भावपूर्ण व्याख्यान

मंच संचालक – 1. मा. बाबुलाल आर्य-प्रचार मंत्री

2 उजागर आचार्य मंत्री, व्यवस्थापक कार्यकारिणी आर्य समाज, दौंगड़ा अहीर

स्वागत समिति अध्यक्ष-वीर सिंह आर्य (सदस्य कार्यकारिणी) वेद प्रकाश आर्य (प्रधान आर्य समाज दौ. अहीर)

सभी अतिथि आगतुकों के लिए भोजन व ठहरने की व्यवस्था

सम्पर्क सूत्र:- 9416963742, 9467184531, 9813451100 9467180066, 9416261454, 9416476837

निवेदक:- आर्य समाज एवं समस्त ग्रामवासी दोंगड़ा अहीर, महेन्द्रगढ़ हरि

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here