200 कुण्डीय वृहद् यज्ञ ईश-स्तुति चर्चा एवं ऋषि चर्चा का भव्य महोत्सव

0
13

महर्षि दयानन्द वैदिक आश्रम एवं गुरुकुल भवन का शिलान्यास

आयोजक

महर्षि दयानन्द काशी शास्त्रार्थ स्मृति न्यास, वाराणसी एवं स्वामी दयानन्द आनन्द बाग चैरिटेबुल ट्रस्ट, सुकृत, सोनभद्र

तिथि – फाल्गुन कृष्ण 7 व 8 सं. 2080 तद्नुसार दिनांक 2 व 3 मार्च 2024 (शनि व रविवार) कार्यक्रम स्थल : आर्य समाज सुकृत, आनन्द बाग परिसर-सुकृत, सोनभद्र

कार्यक्रम

दिनांक- 2 मार्च 2024, शनि. दिनांक – यज्ञ, भजन एवं प्रवचन: सायं 3 से 7 बजे तक

3 मार्च 2024, रवि.२०० कुण्डीय यज्ञ: प्रातः 8.30 से 9.30 बजे तक

ईश-स्तुति चर्चा (भजन प्रवचन): प्रातः 9.30 से 11.30 बजे तक

आर्य वीर दल का भव्य व्यायाम प्रदर्शन: 11.30 से 12.00 बजे तक

ऋषि चर्चा (महर्षि दयानन्द-कृतित्व व व्यक्तित्व पर व्याख्यान): 12.00 से 2.00 बजे तक

महर्षि दयानन्द वैदिक आश्रम एवं गुरुकुल भवन का शिलान्यास अप. 2.00 बजे

ऋषि लंगर (भण्डारा) तत्पश्चात् महोत्सव का समापन

कार्यक्रम में आंमत्रित विद्वान्, भजनोपदेशक, आर्य समाज एवं आर्य वीर दल के शीर्ष पदाधिकारीगण स्वामी ब्रह्मलीन महाराज जी पठान कोट, श्री आर्य विजय जायसवाल उपप्रधान आर्य प्रतिनिधि सभा, मुम्बई, श्री राम आर्य (भजनोपदेशक) हमीरपुर, आर्य वीर दल उ०प्र० के संचालक श्री पंकज आर्य अलीगढ़, संगठन मंत्री, श्री हरि सिह

दिल्ली, आर्य वीर दल पूर्वी उ०प्र० के मंत्री- आचार्य ज्ञान प्रकाश ‘वैदिक’ बलिया, संरक्षक श्री कमला प्रसाद सिंह

आमंत्रण एवम् अभ्यर्थना

धर्मानुरागी देवियों एवं सज्जनों,

आप को सहर्ष सूचित एवं आमंत्रित किया जाता है कि उपर्युक्त तिथियों तथा कार्यक्रम स्थल पर महर्षि दयानन्द सरस्वती के 200 वे

जन्म वर्ष के उपलक्ष्य में 200 कुण्डीय वृद्ध यज्ञ, ईश चर्चा एवं ऋषि चर्चा (स्वामी दयानन्द के कृतित्व एवं व्यक्तित्व पर व्याख्यान एवं सुमधुर संगीत भजन) का दिव्य आयोजन किया गया है। पहली बार इस क्षेत्र में इस प्रकार का विशाल आयोजन हो रहा है। आप से विनम्र अनुरोध है कि इस वृहद् कार्यक्रम में अधिकाधिक संख्या में अपने पूरे परिवार व इष्ट मित्रों के साथ पधारने का कष्ट करें। इसके साथ ही निवेदन है कि इस आयोजन में अधिकाधिक तन, मन, धन एवं अपनी सामर्थ्यानुसार भोजन सामाग्री व यज्ञ सामाग्री, (देशी घी व हव्य सामाग्री) इत्यादी का दान देकर पुण्य के भागी बनें।

सम्पर्क – 988913619, 8052852321, 9839793596, 8004084034

महर्षि दयानन्द वैदिक आश्रम एवं गुरुकुल

अत्यन्त हर्ष के साथ सूचित है कि एक उत्साहजनक कार्य का पहली बार शुभारम्भ सुकृत, सोनभद्र के वनाचल-पहाड़ी एवं पिछड़े व

जनजाति क्षेत्र में सनातन वैदिक धर्म की सक्रिय गतिविधियों तथा गुरूकुल के संचालन होने जा रहा है। इसके लिए वैदिक आश्रम व गुरुकुल’ की स्थापना महर्षि दयानन्द के 200 वें जन्म वर्ष के ऐतिहासिक अवसर पर फा. कृ. 8 (3 मार्च 2024) रविवार को ससमारोह होगा। अतः आप से पुनः अनुरोध है कि चुनौतीपूर्ण इस पवित्र कार्य में अपना अधिकाधिक धन तया ईमारत निर्माण सामाग्री का दान देकर इस महत्वाकांक्षी योजना को पूरा करने में आप अपने प्रशंसनीय भूमिका का निर्वहन करने की कृपा करें। इसके लिए हम और इस क्षेत्र के निवासी आप के बहुत – बहुत आभारी रहेंगे। आप अपने निकटतम स्वजनों अयवा माता-पिता आदि के पुण्य स्मृति में दान देकर शिलापट्ट

पर उनका तया अपना नाम भी अंकित करा सकते हैं।

बन्धुओं! वर्तमान् समय में यह अतिआवश्यक है कि इस अविकसित

वर्ग व क्षेत्र में रचनात्मक कार्य में इस गुरुकुल के सहयोगी बन कर

सनातन धर्म की रक्षार्थ तया आर्य समाज को सशक्त करने की दिशा में आप दयानन्द सरस्वती ने सामाजिक एवं धार्मिक परिप्रेक्ष्य में समतामूलक समाज अपने प्रभावशाली भूमिका का निर्वहन करें। जिसके लिए महर्षि की सरचना के लिए ‘आर्य समाज’ की स्थापना की। राष्ट्र तया सनातन वैदिक धर्म के स्वर्णिम भविष्य के लिए वर्तमान (हम जागरूक लोगों) को अपना कुछ तो त्याग करना ही पड़ेगा और पुरुषार्थ भी। न हि श्रान्त्यस्य संख्याय देवाः – जब तक हम थक कर चूर-चूर नही होगें, तब तक परमात्मा साथ नहीं देगा।

मानद संरक्षक न्यासी सर्वश्री दीनदयाल गुप्ता (कोलकाता), ठाकुर विक्रम सिंह (नई दिल्ली), श्रीमती निरूपमा वर्मा (सोनभद्र)। स्वागत मण्डल सर्वश्री ई. वसुदेव सिंह, शम्भूनाय पटेल, झग्गण सिंह ‘बाबा’, रामेश्वर सिंह, शिवकेदार सिंह, डॉ. यू.के. वर्मा।

निवेदक

प्रमोद आर्य ‘आर्षेय’ (अध्यक्ष) ओम प्रकाश

राजकुमार वर्मा (अध्यक्ष) ओमप्रकाश तुलस्यान (उपाध्यक्ष) गुलाब सिंह चौहान (मंत्री) गोपाल जी मोदनवाल (कोषाध्यक्ष)

एवं ट्रस्टी- मदन यादव, राधारमण अग्रवाल, बचाऊ मौर्य, मुन्ना शर्मा। स्वामी दयानन्द भानन्दवाग चैरिटेबुल ट्रस्ट, सुक्त, सोनभद्र

कपिलदेव आर्य (प्रधान ) सुभाष चन्द्र सिंह (उपप्रधान) कैलाश नाय (कोषाध्यक्ष ) अजय भाटिया (प्रचारमंत्री) एवं सदस्यगण-

रामसूरत, जवाहर लाल मौर्य, छोटे लाल, चन्द्रभूषण, पारसनाथ पटेल, खिरघर लाल आर्य, अवकाश सिंह, महेन्द्र यादव।

जिला आर्य प्रतिनिधि सभा, सोनभद्र एवं समस्त पदाधिकारी

(प्रधान) रामदास पटेल (मंत्री) राजाराम जायसवाल (कोषाध्यक्ष) नीरज मोदनवाल (प्रचारमंत्री)

सुशील प्रजापति

एवं सदस्यगण- महावीर चौहान, सन्तोष केशरी, जवाहिर प्रजापति, रामबचन पाल, सचिन पटेल, गंगा पटेल, शोभा प्रजापति, अखिलेश चौहान, रमेश मौर्य, मदन मोदनवाल, नरसिंह यादव।

आर्य समाज सुक्त, सोनभद्र एवं समस्त पदाधिकारी

त्यासी मण्डलः सर्वश्री आर्य विजय जायसवाल, कमल कृष्ण रस्तोगी, गिरिजा प्रसाद सिंह, स्वामी नरेन्द्रदेव, आर्य रवि प्रकाश बरनवाल, अनन्त लाल, कैलाश नाय, ई. राम नरेश सिंह, डा. कृष्णमोहन बरनवाल, राजेन्द्र प्रसाद सिंह, वेद प्रकाश आर्य, आद्याप्रसाद सिंह, अवधेश सिंह, गुलाब सिंह, शिवकोमल आर्य, सुभाष चन्द्र सिंह, वरूण गुलाटी, चन्द्रमा प्रसाद आर्य, चन्द्रदीप आर्य, सुशील सोनी, कृष्ण कुमार आर्य, महेन्द्र प्रताप आर्य, लल्लू प्रसाद आर्य, श्रीमती श्यामा कुमारी, राजकुमार आर्य, कैलाश कर्मठ, प्रमोद कुमार आर्य। सहयोगी आर्य वृन्द-सर्वश्री आचार्य धर्मपाल जी आर्य एवं विनय आर्य (दिल्ली), राधेश्याम मुनि, नागेन्द्र सिंह, योगेश सिंह पटेल, प्रताप जिवनानी, प्रहलाद गुप्ता, मुरारी सिंह, वीरबल सिंह, बलवन्त पाल, सभापति सिंह, रमाकान्त योगी, रवीन्द्र प्रताप सिंह, अनिल सिंह, डॉ. डी. के. सिंह, ई. सत्यदेव सिंह, वीरेन्द्र सिंह, अशोक जायसवाल, डॉ. मनोज कुमार सिंह, डॉ. श्रीमित्र आर्य, संजय बरनवाल, अशोक सिंह, वीरेन्द्रनाय लाल, वेदव्रत आर्य, ज्ञानप्रकाश वैदिक, मुकेश जी, कन्हैया सोगी।

आता का नाम –

महर्षि दयानन्द काष्ठी शास्त्रार्थ स्मृति न्यास

आयकर की छूट हेतु-

का नाम स्वामी दयानन्द आनन्दबाज चैरिटेबल ट्रस्ट-सोनभद्र खाता संख्या 11950100065469, IFSC Code-BKID0ARYAGB

खाता संख्या 7591022791, IFSC CodeIDIB00M526

बैंक का नाम इंडियन बैंक, मधुपुर, सोनभद्र

उच्चा दिवि दक्षिणावन्तो अस्युः ऋग्वेद (दानी संसार में बहुत ऊँचा स्थान पाते हैं)

आता

बैंक का नाम आर्यावर्त बैंक सम्बद्ध बैंक ऑफ इंडिया, सुकृत, सोनभद्र।

नोट-2000/-रूपये से ऊपर की राशि बैंक खाते में चेक / RTGS/NEFT द्वारा भेजे।

कीर्ति यस्य स जीवति यशस्वी व्यक्ति सदा सर्वदा जीवित रहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here